Hindi Varnamala को सीखिए

Hindi Varnamala के बारेमें जानने से पहले चलिए जानते है कुछ चीजें हिंदी भाषा के बरमैने जो की हमें जानना बोहोत जरुरी है ।

सबसे पहले तो हिंदी हमारे देश भारत की राष्ट्रीय भाषा है साथ ही साथ ये भाषा को हमारे देश के अलावा बाकि 7 देशों में इसी भाषा का इस्तमाल होता है जैसे की नेपाल, अमेरिका, अफ्रीका, जर्मनी, सिंगापुर अदि ।

हमारे देश की रास्टीय भाषा हिंदी है पर हमारे देश में सिर्फ 43.63 % ही लोग हिंदी बोलते है अपने रोज मारगी जिंदगी में और बाकी लोग अपने अपने आंचलिक भाषा का इस्तमाल करते है ।

अगर हम पुरे देश को देखे तो कहीं ना कहीं हमारे देश में आधे से अधिक लोगों को हिंदी समझ अति है बड़ी आसानी से और बोहोत लोग बोल देते है सिवाए साउथ के राज्य को छोड़ के ।

हम जो आज कल की हिंदी इस्तमाल कर रहे है ये कहीं ना कहीं 70 साल पुराना भाषा है जिसको मॉर्डन हिंदी बी कहते है अरु हमारे ये हिंदी भाषा संस्कृत भाषा से लिया गया है ।और बात करे संस्कृत भाषा की तो ये करीबन 4000 साल पुराना भाषा है ।

हमारा देश एक का रस्तिया भाषा हिंदी और हमारे देश में हर कोने में कहीं ना कहीं हिंदी भाषा का प्रयोग किया जाता है जिसके वजह से हमें कहींन ना कहीं हिंदी भाषा की समझ रखना जरुरी है । उसकी देखते हुए हमारा ये आज का बिसय है की हिंदी वर्णमाला के ऊपर आपको आज हम जानकारी देना चाहेंगे .

अगर आपको हिंदी भाषा की कोई समझ नहीं है या फिर आप हिंदी भाषा को आप सीखना चाहते है और बोलना पढ़ना चाहते है ये पोस्ट खास करके आपके लिए है इसमें हम हिंदी वर्णमाला बतायेगे और साथ ही साथ हम हम हिंदी स्वर और हिंदी ब्यंजन के बारेमें बतायेगे और इसके ढेर सारे उदहारण बी आपको देंगे ।

चलिए बिना कोई समय गवाए जानते है इनसब के बारेमें

Hindi Varnamala

hindi varnamala

हमारे हिंदी भाषा में आपको 52 alphabet ( वरनालामा ) आपको देखने केलिए मिलते है उनको अलग अलग प्रकार से उनके छरण के हिसाब से तोला गया है । आप निचे देख सकते हो Hindi Varnamala हमने आपको image के साथ आपको जानकारी दिए है ।

 

फोटो  हिंदी वर्णमाला  हिंदी सब्द 
pomegranate अनार 
mango आ  आम 
tamarind इ  इमली 
sugarcane ईख 
owl उल्लू
wool ऊन 
saint ऋषि
one एक 
mortor ओखल
medicine औषध
grapes अं अंगूर
hello अ: अहा
lotus कमल
muskmelon खरबूजा
donkey गधा
house घ  घर 
  ड.  
spoon च  चम्मच 
umbrela छ  छतरी 
ship ज  जलयान 
river झरना
stage मंच
tamato टमाटर 
stop ठहरो 
damburur डमरू 
bollte cap ढक्कन 
indian flag झंडा 
water melon तरभुज 
thermo flask थर्मस 
need दरकार
money धन 
nath नथ
kite पतंग 
fruit फल 
duck बतक
bear भ  भालू 
fish मछली 
aeroplane य  यान 
king राजा 
लड्डू 
heron व  वक 
juice शरबत
hexagon षट्कोण
chess सतरंग 
hand हाथ 
soldier क्ष क्षत्रिय 
trisul त्र त्रिसूल 
gyani श्र

ज्ञानी 

यहाँ हमने आपको हिंदी भाषा में ब्यबहार होने वाले सारे वर्णमाला यानि Hindi alphabet के बारेमें आपको बता दिए है जिसे आप images के साथ देख के समझ सकते है और साथ ही साथ हमने आपको उसी alphabet के हिसाब से एक एक बकया बी आपके सामने दिए है ताकि आपको समझने में आसानी हो ।

स्वर बर्ण क्या है ?

हर भाषा को बोलने का और लिखने का तरीके अलग होता है उसी तरह हिंदी भाषा में बी आपको लिखने और बोलने का तरीका अलग होता है । हिंदी भाषा को उसके बोलने और लिखने के तरीके को देखते हुए हिंदी वर्णमाला को कुछ हिस्सों में तोडा गया है ।

जैसे की उच्चारण के हिसाब से हिंदी वर्णमाला में आपको 45 बर्ण देखने केलिए मिलते है और जिसमे से 10 स्वरा ब्यंजन है और 35 ब्यंजन बर्ण है । और अगर आप हिंदी लिखने जाते है तो उसके आधार पे आपको पुरे 52 बर्ण देखने केलिए मिलते है और उनमे से आपको 13 स्वर बर्ण, 35 ब्यंजन बर्ण और आपको 4 संयुंक्त बांरा आपको देखने केलिए मिलते है ।

हिंदी भाषा में जो बर्ण उच्चारण करने में कोई दूसरे बर्ण की जरुरत नहीं होती है उसे स्वर बर्ण कहते है । जैसे की हमने आपको निचे बताये है की कोनसे स्वर बर्ण में आते है 

उच्चारण पे आधार स्वर बर्ण :  अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ओ, औ, इत्यादि 

लिखाण पे आधारित स्वर बर्ण : अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ओ, औ, ऋ, अं, इत्यादि 

स्वर बर्ण के प्रकार 

अगर आप हिंदी भाषा के ब्याकरण को देखते हुए जाये तो आपको उच्चारण के समय में हम कुछ बर्ण का इस्तमाल करते है उन्ही चीज को देखते हुए स्वर बर्ण को 3 हिस्सों में बता गया है 

  1. ह्र्स्व स्वर : जिन स्वर बर्ण को उच्चारण करने में ज्यादा समय नहीं लगता है उनको ह्र्स्व स्वर कहते है जैसे की इसका उदहारण है अ और इ और उ ।
  2. दीर्घ स्वर : जिको स्वर बर्ण को उच्चारण यानि बोलने में थोड़ा समय लगता है यानि ह्र्स्व स्वर से ज्यादा समय लगता है उसे दीर्घ स्वर कहते है जैसे की आ, ई और ऊ ।
  3. प्लुत स्वर : जिन स्वर बर्ण को उच्चारण करने में सबसे ज्यादा समय लगता है उसे प्लुत स्वर कहते है जैसे की इसका उदारहरण है ऐ और औ ।

ब्यंजन बर्ण क्या होता है ?

आपको हमने ऊपर में आपको स्वर बर्ण के बारेमें बता दिए है और अभी जानने वाले है ब्यंजन बर्ण के बरमें । ब्यंजन बर्ण वो बर्ण होते है जिनके उच्चारण स्वर बर्ण के बिना नहीं हो सकता है उसे कहीं ना कहीं हम ब्यंजन बर्ण कहते है ।

जितने बी hindi varnamala है उनमे से आपको ढेर सारे बर्न मिलेंगे जो बिना स्वर बर्ण के उच्चारण नहीं किया जा सकता है जैसे की आप निचे इसके उदारण देख सकते है 

ब्यंजन बर्ण 
क, ख, ग, घ,ड. 
च, छ, ज, झ, ञ
ट, ठ, ड़, ढ, ण
त, थ, द, ध, न
प, फ, ब, भ, म
य, र, ल, व
श, ष, स, ह

 

ब्यंजन बर्ण के प्रकार 

जिस हिसाब से स्वर बर्ण को टोला गया है ठीक उसी हिसाब से ब्यंजन बर्ण को बी टोला गया है और ब्यंजन बर्ण को मुखयरप से 4 हिस्सों में टोला गया है ।

  1. स्पर्श ब्यंजन : ये उन प्रकार के ब्यंजन होते है जो की बोलते वक्त हमें अपना जिव को मुँह के साथ लगाना पड़ता है । बिना जिव को मुँह में स्पर्श किये बिना आप इन्ही ब्यंजन को बोल नहीं सकते है । स्पर्श ब्यंजन क से म तक होते है और उनमे आपको 5 बर्ग देखने केलिए मिलते है इसके अंदर आपको 25 वर्णमाला देखने केलिए मिलते है जैसे की आप निचे देख सकते हो 
कबर्ग क, ख, ग, घ,ड. 
चबर्ग  च, छ, ज, झ, ञ
टबर्ग   ट, ठ, ड़, ढ, ण
तबर्ग त, थ, द, ध, न
पबर्ग  प, फ, ब, भ, म
  1. अन्तःस्त्त ब्यंजन : इसी ब्यंजन में आपको 4 alphabet देखने केलिए मिलते है जैसे की आप देख सकते है य, र, ल और व ।
  2. उस्म ब्यंजन : जो ब्यंजन बोलते समय में आप में उस्म पैदा करता है उसे हम उस्म ब्यंजन कहते है जैसे की श, ष, स और ह ।
  3. संयुक्त ब्यंजन : आपको इसके नाम से ही पता चल रहा होगा ये किस प्रकार के है यहाँ आपको कुछ बर्ण को मिला के संयुक्त बर्ण होता है । इसके उदहारण आप निचे देख सकते है 

क + ष + अ = क्ष

त + र + अ = त्र 

ज + ञ + अ = ज्ञ

श + र + अ = श्र   

हिंदी वर्णमाला यानि hindi alphabet कैसे पढ़े और लिखे ?

हर भाषा को लिखने का और बोलने का तरीका थोड़ा अलग होता है जैसे अगर हम उर्दू की बात करे उसे डायने और से लिहना सुरु किये जाता है और इंग्लिश भाषा की बात करे तो वो लेफ्ट हैंड के और से लिखना सुरु  किया जाता है ठीक वैसे ही हिंदी भाषा बी आपको इंग्लिश भाषा की तरह लेफ्ट हैंड के और से लिखना सुरु किया जता है ।

अगर आपको हिंदी भाषा लिखना और पढ़ना समझना है तो आपको कहीं ना कहीं इसके practical उदहारण की जरुरत है जिसके बिना आप कैसे लिखा जाता है आप समझ नहीं सकते है और पढ़ बी नहीं सकते है ।

इसके लिए हमने निचे आपको एक वीडियो दिया हुआ है उसके जरिये आप आसानी से हिंदी वर्णमाला लिखना और पढ़ा सिख सकते है 

English के जिरए हिंदी भाषा को लिखिए 

हर भाषा को आप english में लिख सकते है इसके लिए उसी भाषा को सही से समझ में आना चाहिए फिर उसे आप इंग्लिश alphabet का इस्तमाल करके आप उसे इंग्लिश में लिख सकते है ।

हिंदी वर्णमाला के सारे शब्दों को आप इंग्लिश में लिख सकते है जैसे की आप निचे देख सकते है और उसी हिसाब से आप हिंदी भाषा को इंग्लिश मैं लिख सकते है । पर यहाँ आपको बतादें की अगर आप इंग्लिश में ऐसे लिखते है तो ये कोई इंग्लिश भाषा नहीं होगा इसे सिर्फ हिंदी बोलने वाले लोग पढ़ के ही समझ सकते है ।

ये एक सीधा अनुबाद है हिंदी से इंग्लिश तक पर अगर आपको इंग्लिश बोलने वाले लोग समझ सके इसके लिए आपको हिंदी भाषा के सारे शब्दों जो इंग्लिश में उनसब को याद करके काल को देखते हुए अनुबाद करने से ही वो लोग समझ सकते है इसके ऊपर हम आगे और बी बात करेंगे ।

चलिए जानते है हिंदी भाषा को आप इंग्लिश में कैसे लिखते है इसके बारेमें जानते है 

हिंदी बर्ण  English में 
अ  a
आ  aa
इ  i
ee
u
oo
e
ai
o
ou
अं an
अ: ah
क  ka
का  kaa
की  ki
कि kee
कु  ku
कू koo
के  ke
कै kai
को  ko
को  kou
कं kan
कः kah

अभी जान लेते है जितने बी बर्ण होते है हिंदी में ब्यंजन बर्ण को कैसे लिखा जाता है english में 

व्

हिंदी बर्ण  English में 
ka
kha
ga
घ  gha
ड. nya
च  cha
छ  chha
ज  ja
jha
ड.  nya
ट  ta
tha
da
dha
na
त  ta
tha
da
ध  dha
na
pa
pha
ba
bha
ma
ya
र  ra
la
व  wa
sha
sha
स  sa
ha
क्ष ksha

Hindi varnamala pdf Downlod

अगर आप हिंदी वर्णमाला के PDF download करना चाहते है तो आपको हमने निचे Download pdf पे जाके आप हिंदी वर्णमाला की pdf download कर सकते हो और ऐसे ही तमा जानकारी केलिए आप हमारे blog hindivarnamala.com पे आके पढ़ सकते है नए नए जानकारी ।

3 thoughts on “Hindi Varnamala को सीखिए”

  1. श्र से ज्ञानी लिखा गलत तथा औ से औषध chk spelling। औशोध is wrong

    Reply
    • धन्यवाद अपने हमें हमारी गलतियां बताने केलिए हम आगे से हमारे साइट में जितने बी जानकारी दी जाएगी उनसभी को अच्छे से जाँच करके ही हमारे पाठक जो रोज पढ़ते है उनतक पहचाएगे

      Reply

Leave a Comment