निजवाचक सर्वनाम – परिभाषा एवं उदाहरण

इस आर्टिकल में हम निजवाचक सर्वनाम के बारे में बात करने जा रहे हैं इस सर्वनाम का प्रयोग स्वयं की बात कहने के लिये किया जाता है। यह कपकि परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण सर्वनाम है अतः इसको ध्यानपूर्वक पड़े। यहाँ हमने आपको निजवाचक सर्वनाम को उदाहरण के साथ समझाने का प्रयास किया है।

सर्वनाम के भेद

सर्वनाम के 6 भेद होते हैं जो की निम्नलिखित हैं, जिसमे से आज हम निजवाचक सर्वनाम के बारे में पढ़ने वाले हैं-

  • पुरुषवाचक सर्वनाम
  • निश्चयवाचक (संकेतवाचक) सर्वनाम
  • अनिश्चयवाचक सर्वनाम
  • संबंधवाचक सर्वनाम
  • प्रश्नवाचक सर्वनाम
  • निजवाचक सर्वनाम

निजवाचक सर्वनाम परिभाषा

हिंदी व्याकरण के ऐसे सर्वनाम शब्द जिनका प्रयोग बक्ता स्वयं, निज, खुद, अपने आप का बोध कराने के लिए करता है, वे शब्द निजवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। अर्थात ऐसे सर्वनाम शब्द जो स्वयं की बात होने का बोध कराते है, उन्हें निजवाचक सर्वनाम कहते हैं।

जैसे – स्वयं, अपना, आप, अपने, अपनी, खुद, स्वतः इत्यादि।

निजवाचक सर्वनाम के उदाहरण

1. मैं अपना कार्य स्वयं करने में सक्षम हूँ।

इस वाक्य में अपना शब्द का प्रयोग किया गया है जो कि खुद के बारे में बात होने का बोध कराता है अतः अपना शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

2. आप रहने दीजिए मैं अपने आप चला जाऊंगा।

यहाँ पर दिए गए वाक्य में अपने शब्द का प्रयोग स्वयं की बात कहने का बोध करा रहा है इसलिए अपने शब्द निजवाचक सर्वनाम के अंतर्गत आएगा।

3. मैं अपने काम से बाहर जा रहा हूँ।

ऊपर दिये गए वाक्य में अपने शब्द से स्वयं की बात होने का बोध हो रहा है अतः अपने शब्द निजवाचक सर्वनाम का उदाहरण है।

4. आपको हमारे लिए परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।

इस वाक्य में हमारे शब्द का प्रयोग किया गया है जो कि बक्ता ने खुद के लिए प्रयोग किया है इसलिए हमारे शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

5. मैं आपको स्वयं लेने के लिये आ रहा हूँ।

यहाँ पर स्वयं शब्द का प्रयोग किया गया है जो की बक्ता ने अपने आप के लिए प्रयोग किया है जिससे स्पष्ट है कि स्वयं शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

6. मेरी तरफ से आपको किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी।

यहाँ इस वाक्य में मेरी शब्द का प्रयोग बक्ता ने अपने लिखने प्रयोग किया है जो कि निजता को दर्शाता है अतः मेरी शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

7. मैं आपको अपनी शादी में जरुर बुलाऊँगा।

इस वाक्य में अपनी शब्द का प्रयोग किया गया है जिससे स्वयं की बात होने का बोध हो रहा है इसलिए यहाँ पर अपनी शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

8. आप हमारे यहाँ पर कभी भी आ सकते हैं।

यहाँ ऊपर दिये गए वाक्य में हमारे शब्द का प्रयोग किया गया है जो कि बक्ता की स्वयं की बात होने का बोध हो रहा है इसलिए हमारे शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

9. जो स्वयं की मदद करते है, भगवान भी उन्हीं की मदद करते हैं।

इस वाक्य में स्वंय शब्द का प्रयोग बक्ता ने हर एक व्यक्ति के लिए जो कर्ता है उसके लिए किया है क्योंकि स्वंय शब्द निजवाचक सर्वनाम का उदाहरण है।

10. मेरा भाई खाना अपने आप बना लेता है।

यहाँ ऊपर दिये गए वाक्य में मेरा शब्द का प्रयोग खुद से अपने भाई का सम्बंध बताने के लिए किया है जो कि निजवाचक सर्वनाम को दर्शाता है।

11. मैं अपने पापा के साथ खाना खाऊंगा।

यहाँ इस वाक्य में अपने शब्द का प्रयोग किया गया है जिससे स्वंय का सम्बंध होने का बोध किसी और क साथ से हो रहा है अतः अपने शब्द निजवाचक सर्वनाम है।

Leave a Comment